UP News: गन्ना किसानों को बहुत बड़ा तोहफा देगी योगी सरकार! लगातार मांग और चुनावी माहौल के चलते फायदा मिलना हुआ तय

UP News प्रदेश सरकार चालू सत्र में गन्ना किसानों को मूल्य वृद्धि का तोहफा दे सकती है। मूल्य वृद्धि को लेकर गन्ना किसानों की लगातार उठ रही मांग और चुनावी माहौल को देखते हुए इसे तय माना जा रहा है। हालांकि अधिकृत रूप से मूल्य वृद्धि को लेकर अब तक बैठकों का सिलसिला शुरू नहीं हुआ है। बता दें कि राज्य परामर्शित मूल्य तय करने की प्रक्रिया बिभिंन चरणों से गुजरती है।

UP News: गन्ना किसानों को बहुत बड़ा तोहफा देगी योगी सरकार! लगातार मांग और चुनावी माहौल के चलते फायदा मिलना हुआ तय

हालांकि अधिकृत रूप से मूल्य वृद्धि को लेकर अब तक बैठकों का सिलसिला शुरू नहीं हुआ है। बता दें कि राज्य परामर्शित मूल्य (एसएपी) तय करने की प्रक्रिया कई चरणों से गुजरती है।

एसएपी की बैठक के तुरंत बाद ली जाती है कैबिनेट की मंजूरी

गन्ना आयुक्त की अध्यक्षता में मूल्य निर्धारण समिति की बैठक के बाद मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एसएपी की बैठक के बाद मूल्य निर्धारण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद इस पर भी कैबिनेट की मंजूरी ली जाती है।

बता दें कि वर्तमान में गन्ने का मूल्य अगैती प्रजाति के लिए 350 रुपये, सामान्य के लिए 340 रुपये और रिजेक्टेड प्रजाति के लिए 335 रुपये प्रति क्विंटल है। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2021 में किसान भाई आंदोलन के अंतर्गत गन्ने का मूल्य 25 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ाया गया था।

सितंबर में गन्ने को लम्बा और मोटा करने के अचूक उपाय-

गत वर्ष किसान संगठनों की मांग के बाद भी प्रदेश सरकार ने मूल्य वृद्धि नहीं की थी। इस वर्ष ऐसे में इस वर्ष सरकार पर मूल्य बढ़ाने का दबाव बढ़ता जा रहा है। सूत्रों की मानें तो राज्य परामर्शित मूल्य तय करने के लिए उच्चस्तरीय सहमति बन चुकी है, जल्द ही मूल्य निर्धारण समिति की बैठक होगी और इसके बाद प्रस्ताव कैबिनेट भेजा जाएगा।

Copy करने से बचे DMCA आ सकता है