अगर आप भी एक एकड़ में 1000 कुंतल गन्ना उगाना चाहते हैं तो इस तरीके को जरुर अपनाएं

भारत के किसान हमेशा अपनी फसल को लेकर चिंतित रहते हैं क्योंकि कभी उनकी फसल बर्बाद हो जाती है तो कभी उन्हें उनकी फसल का उचित मूल्य नहीं मिल पाता है। खासकर गन्ना किसानों को फसल का सही दाम नहीं मिलने से काफी परेशानी हो रही है।अगर आप भी एक एकड़ में 1000 कुंतल गन्ना उगाना चाहते हैं तो इस तरीके को अपनाएं

गन्ने की खेती कैसे करें (Sugarcane Farming in Hindi)

यहां आपको गन्ने की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी, जैव सक्रियता और तापमान (गन्ने की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी, जलवायु और तापमान) से संबंधित जानकारी दी गई है, जिसे जानकर आप एक अच्छी फसल उगा सकते हैं:-

E- ganna : गन्ने में खरपतवार नष्ट करने का आसान तरीका देखे?

गन्ने की खेती किसी भी प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है, लेकिन इसकी बंधाई गहरी दोमट मिट्टी में अधिक होती है। इसकी खेती के लिए उचित जल निकासी वाली भूमि की आवश्यकता होती है, जिससे पानी के छींटे पड़ने से इसके कटने की संभावना अधिक हो जाती है। गन्ने की खेती के लिए सामान्य पीएच मान वाली भूमि उपलब्ध है

अगर आप भी एक एकड़ में 1000 कुंतल गन्ना उगाना चाहते हैं तो इस तरीके को अपनाएं
अगर आप भी एक एकड़ में 1000 कुंतल गन्ना उगाना चाहते हैं तो इस तरीके को अपनाएं

गन्ने की विशेषताओं के लिए शुष्क और एड लिबिटम की आवश्यकता होती है। यह एक वर्ष में एक शिपमेंट तक का निर्माण कर रहा है। जिसके कारण इसे विषम प्रकृति का सामना करना पड़ता है, इन स्थलों में भी इसकी वृद्धि कम होती है, इसकी विफलता के लिए सामान्य वर्षा की आवश्यकता होती है, और केवल 75 से 120 सेमी वर्षा ही गन्ने के बीज को सेट करने के लिए पर्याप्त होती है। होती है। होती है। इसके लिए 20 डिग्री तापमान की आवश्यकता होती है और जब यह सूक्ष्म जीव विकसित हो जाता है तो इसका तापमान 21 से 27 डिग्री होना चाहिए। इसका अधिकतम तापमान 35 डिग्री तापमान ही सहन कर सकता है।

 

गन्ने की फसल में अधिक पैदावार के लिए क्या डालें?

गन्ने में अगेती टहनियों को हटाता है

सुरेश कबाड़े बताते हैं, “एक एकड़ में गन्ने की जुताई करने वालों (पहला पौधा) की संख्या 40,000 से ज्यादा होनी चाहिए। गन्ने की जुताई करने के बाद हम एक अनोखा तरीका अपनाते हैं। उसके बाद जो पहला तना निकलता है उसे तोड़कर फेंक देते हैं। यह।” सुरेश कबाड़े आगे बताते हैं, “मदर टिलर्स को हटाने से इसकी साइड टिलर्स अच्छी हो जाती हैं और इनकी लंबाई काफी बढ़ जाती है. एक एकड़ में एक हजार कुंतल गन्ना पैदा करने का लक्ष्य है. हमारे गन्ने की लंबाई 18 से 19 होती है.” पैर। हमारे जैविक रूप से उगाए गए एक गन्ने में 44 से 54 कैन (आँखें) होती हैं। जिसके बीच की दूरी कम से कम छह इंच और ज्यादा से ज्यादा नौ इंच हो

Kisan Karj Mafi List 2023: इन किसानों का कर्ज हुआ माफ, नई लिस्ट में सीधे देखें अपना नाम

तारीफ कर रहे दूसरे प्रदेश के किसान

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की गन्ना पट्टी के प्रगतिशील किसान और जेट एयरवेज के पूर्व सीनियर फ्लाइट मैनेजर दिलजिंदर सहोता सुरेश कबाड़े को देश के किसानों का गुरु बताते हुए कहते हैं, ”उनका काम बहुत व्यवस्थित है, वे नई तकनीकों का पालन करते हैं खेती। वे इसका उपयोग करते हैं, उन्हें जमीन और बीज की समझ है। वह प्रति एकड़ 1000 कुंतल उपज पाने वाले देश के पहले किसान हैं। दलजिंदर आगे कहते हैं, “हम (यूपी वाले) उनका आधा उत्पादन नहीं कर पा रहे हैं।” महाराष्ट्र में कम सर्दी और फसल काटने तक खेतों में लंबे दिन (15-18 महीने) भी उनकी मदद करते हैं।

साल में 70 लाख तक करते हैं सिर्फ गन्ने कमाई

महाराष्ट्र के सुरेश कबाड़े गन्ने से सालाना 50-70 लाख कमाते हैं, वहीं हल्दी और केले मिलाकर साल में एक करोड़ से ज्यादा कमाते हैं। पिछले साल उन्होंने एक एकड़ गन्ना बीज के लिए 2 लाख 80 हजार में बेचा था। 2016 में वह एक एकड़ गन्ना बीज भी 3 लाख 20 हजार में बेच चुके हैं।

गन्ना किसानो को मिलेगा 2000 का फायदा, अब हर महीने उठा सकते हैं फायदा, जानिए कैसे

गन्ने के पौधों की सिंचाई

गन्ने के बीजों की रोपाई नम मिट्टी में की जाती है। इसलिए इन्हें शुरुआत में सिंचाई की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन गर्मी के मौसम में पौधों को सप्ताह में एक बार और सर्दियों में पौधों को 15 से 20 दिनों के अंतराल पर पानी देना चाहिए। इसके अलावा बरसात के मौसम में जरूरत पड़ने पर ही पौधों की रोपाई की जाती है।

इसे भी पढ़े 

2 thoughts on “अगर आप भी एक एकड़ में 1000 कुंतल गन्ना उगाना चाहते हैं तो इस तरीके को जरुर अपनाएं”

Comments are closed.

Copy करने से बचे DMCA आ सकता है